Linga bhairavi and Sambhog Shakti

लिंग भैरवी

लिंग भैरवी

Linga bhairavi and Sambhog Shakti are connected to each other spitually. Linga bhairavi is, in fact, the lingam shakti and without it, you cannot have sexual intercourse with opposite sex.

लिंग भैरवी और संभोग शक्ति एक दूसरे से आत्मिक रूप से जुडे हैं।  लिंगम् शक्ति के बिना संभोग संभव नही है। योनि, नारी शक्ति का ज्वालामुखी है जबकि लिंग, नर  ऊर्जा का प्रचंड वेग है। सम्भोग क्रिया के द्वारा ही ये दोनों ऊर्जा एक हो जाती हैं और सृष्टि में नया सृजन करते हैं। सृष्टि मे सम्भोग और सृजन हर पल निरन्तर चलता रहता है। सम्भोग परमानन्द का क्षणिक रूप है और इसे आनन्द कहते हैं। जब ये आनन्द अनन्त हो जाता है तो परमानन्द कहलाता है। स्वयं को इस परमानन्द में स्थापित करना ही मोक्ष है। जब कोई भी आत्मा परमानन्द में लीन होती है तो वो अन्तहीन आनन्द में डूब जाती है। वो सदैव सम्भोग में रत है। वो अनन्त सम्भोग में डुबी है। यही पुर्ण समाधि है। परमपुरुष प्रकृति के साथ सदैव सम्भोगरत है।

लिंग भैरवी लिंगम् शक्ति है। इस शक्ति के बिना सम्भोग का आनन्द प्राप्त नही किया जा सकता। नारी ऊर्जा, प्रेम और सम्भोग पर टिकी है। सम्भोग प्रेम का उच्चतम बिन्दु है। जो नर,  नारी को प्रेम और सम्भोग मे संतुष्ट नही कर सकता, नारी उसका त्याग कर देती है। जो पुरूष, नारी को सम्भोग में पूर्ण संतुष्ट कर सकता है, नारी उसकी गुलाम बन जाती है। वो नारी उस आनन्द की गुलाम बन जाती है। उसी पुरूष की हो जाती है। नारी को नर ऊर्जा लिंग से सम्भोग क्रिया के द्वारा प्राप्त होती है। नारी सदैव प्रेम की भूखी है। नारी को प्रेम से ही अपने आधीन किया जाता है।

लिंग भैरवी की उपासना से लिंगम् शक्ति बढती है। ये नर ऊर्जा को और ज्यादा बलवान बना देती है जिससे नर, नारी को रति क्रिया में संतुष्ट कर, खुद भी लम्बे समय तक सम्भोग आनन्द प्राप्त करता है। आदि-शक्ति भैरवी के लिंग-भैरवी रूप की उपासना, आपको भोग और मोक्ष दोनों प्रदान करती है। लिंग भैरवी साधना अपने आप में अद्वितिय साधना है। लेकिन एक बात सदैव ध्यान रखें कि नारी भोग की वस्तु नही है बल्कि जननी है। याद रखिये कि आप स्वयं भी नारी से ही पैदा हुए है। नारी सदैव आदरणीय है।

मन्त्र एवं साधना विधिः Rs.5100/-

Please note: Keep the mantra and sadhna procedure always confidential with you. Each and every mantra or sadhna is energized in your name only. If you disclose it to anybody, it may decrease your power or destroy it. So please be careful.

  • Twitter
  • del.icio.us
  • Digg
  • Facebook
  • Technorati
  • Reddit
  • Yahoo Buzz
  • StumbleUpon

www.shabarmantraonline.com

Posted in Shabar Mantra Astrology Tagged with: , , , , , ,

Leave a Reply