Category: Vedic Astrology

vedic astrology is based on Indian Classics.

उस ब्रह्म से प्रकट यह संपूर्ण विश्व है जो उसी प्राण रूप में गतिमान है। उद्यत वज्र के समान विकराल शक्ति ब्रह्म को जो मानते हैं, अमरत्व को प्राप्त होते हैं। इसी ब्रह्म के भय से अग्नि व सूर्य तपते

Posted in Shabar Mantra Astrology, Vedic Astrology Tagged with: , , , , , , ,